Sunday, June 26, 2022
Home उत्तराखंड उत्तराखंड एसटीएफ की साइबर ठगी में बड़ी कार्यवाही , ओडिसा से 15...

उत्तराखंड एसटीएफ की साइबर ठगी में बड़ी कार्यवाही , ओडिसा से 15 लाख की ठगी करने वाला अपराधी को किया गिरफ्तार

उत्तराखंड / देहरादून।

मुख्यमंत्री उत्तराखंड के निर्देशों के क्रम में प्रदेश के निवासियों को साइबर अपराधियो द्वारा जनता से ठगने वालो पर सख्त कार्यवाही पर पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड द्वारा एसटीएफ व साइबर पुलिस को प्रभावी कार्यवाही हेतु दिशा निर्देश दिए गए है । उक्त आदेशो के अनुपालन मे थाना साइबर पुलिस उत्तराखंड द्वारा प्रभावी कार्यवाही करते हुये राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) में दबिश दी गईं । जिसमे STF एवं साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड द्वारा देहरादून से 1700 कि0मी0 दूर भीषण गर्मी व भारत बंद होने व ट्रेने निरस्त होने के बावजूद साईबर अपराधियो की देश भर मे धरपकड जारी रखते हुये साईबर अपराधियो द्वारा फर्जी कम्पनी बनाकर आमजन को आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर वादी मुकदमा से हुयी 15 लाख की धोखाधड़ी मे सम्बन्धित अभियुक्त जाकी अहमद को मय धोखाधडी के लिए इस्तेमाल किए गये 01 मोबाइल फोन मय सिम बरामद कर राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) से किया गिरफ्तार ।

पूर्व मे इस अभियोग मे सलिंप्त अपराधियो को पजांब के फरीदकोट व भोपाल एंव मुम्बई मे गिरफ्तारी कर वैधानिक कार्यवाही की जा चुकी है । जिसमे क्रिप्टो करेंसी एंव फिल्म इडस्ट्री द्वारा करोड़ों रूपए की मनी लाड्रिंग का अपराध भी प्रकाश मे आ चुका है । वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है। इसी परिपेक्ष्य में साईबर ठगों द्वारा फर्जी कम्पनी बनाकर आमजनो को आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर आनलाईन लाखों रुपये की धोखाधडी की जा रही है ।

इसी क्रम में एक प्रकरण साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को वर्ष 2021 मे प्राप्त हुआ था । जिसमें शिकायतकर्ता अकिंत कुमार निवासी सुभाष नगर ज्वालापुर हरिद्वार के साथ अज्ञात व्यक्ति द्वारा स्वंय को जीएलसी प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी मे आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर आनलाईन कुल 15,00,000/- (पन्द्रह लाख रुपये) की धनराशि धोखाधड़ी से विभिन्न बैक खातो में प्राप्त करने सम्बन्धी शिकायत के आधार पर साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून पर मु0अ0सं0 30/2021 धारा 420/120 बी भादवि व 66(डी) आईटी एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया था । जिसकी विवेचना साइबर थाने के निरीक्षक त्रिभुवन सिंह रौतेला के सुपुर्द की गयी। जिसमे पूर्व मे दो अभियुक्तो को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है ।

अभियोग में अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही हेतु घटित टीम द्वारा घटना में प्रयुक्त मोबाईल नम्बर, व शिकायतकर्ता से प्राप्त धनराशि की जानकारी प्राप्त की गयी तो प्रकाश में आये अभियुक्तो द्वारा स्वंय को जीएलसी प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी मे आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर वादी मुकदमा से धोखाधडी की गयी । मोबाईल नम्बर व खातों की जानकारी से अभियुक्तगणों का राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) से सम्बन्ध होना पाया गया जिसमें टीम को राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) व अन्य सम्भावित स्थानो में रवाना किया गया।

पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास से अभियुक्तो द्वारा वादी मुकदमा को जो खाता संख्या व मोबाईल नम्बर दिये थे व धोखाधडी से प्राप्त की गयी धनराशि की खातो के खाताधारक की जानकारी प्राप्त की गयी व उक्त खाते का खाताधारक के सम्बन्ध में साक्ष्य एकत्रित करते हुये अभियोग में 01 जाकी अहमद सिद्दिकी पुत्र स्व0 शमून अहमद निवासी नौशाद खान ब्लाक ए-135 सैक्टर -15 थाना व पोस्ट सैक्टर -15 राऊरकेला स्टील टाउनशीप एरिया जनपद सुन्दरगढ (उडिसा) उम्र 45 से गिरफ्तार करते हुये घटना में प्रयुक्त मोबाईल फोन बरामद किया गया।

अपराध का तरीकाः- अभियुक्त द्वारा फर्जी कम्पनी बनाकर आमजनता को आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर आनलाईन धोखाधडी करना व अभियुक्तो व पकडे गये सहअभियुक्त द्वारा भारत के अलग-अलग कोनो मे दर्जनो फर्जी कम्पनी बनायी गयी थी और साईबर अपराधियो द्वारा फिल्मो की स्क्रीनिंग के नाम पर करोडो रुपये क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से भारत से बाहर भेजे गये । अपराध मे प्रयुक्त बैवसाईट डिटेल से प्रतीत होता है कि चह बैवसाइट हांगकांग व सिगांपुर मे बनायी गया थी ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post