Wednesday, December 7, 2022
Home उत्तराखंड आईसीएआर क्षेत्रीय समिति की 72वीं बैठक में प्रतिभाग करते कृषि मंत्री गणेश...

आईसीएआर क्षेत्रीय समिति की 72वीं बैठक में प्रतिभाग करते कृषि मंत्री गणेश जोशी

देहरादून :

कहा-कृषकों तक सोशल मीडिया के माध्यम से पहुंचेगी कृषि एवं बागवानी से सम्बंधित जानकारियां

     उत्तराखण्ड के आई0सी0ए0आर0 क्षेत्रीय समिति की 27 वीं बैठक में कृषि एवं बागवानी विभाग उत्तराखण्ड से सम्बन्धित सुझावों एवं समस्याओं पर कृषि मंत्री ने बैठक में अपना पक्ष रखा। यह बैठक वर्चुअल रुप से आयोजित हुई और मंत्री जोशी सहित हिमाचल, जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख के कृषि मंत्री एवं उनके प्रतिनिधि उपस्थित रहे। बैठक की अध्यक्षता केन्द्रीय पशुपालन, मत्य एवं डेयरी मंत्री पुरूषोत्तम रूपाला ने की।

कृषि मंत्री गणेश जोशी ने अपने सम्बोधन में कहा कि उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों में उगाई जाने वाली स्थानीय फसलों का विशेष महत्व हैं, तथा क्षेत्र विशेष के अनुरूप इन फसलों में विशिष्ट लक्षण ही पाये जाते है। जैसे हर्षिल चकराता व मुनस्यारी की राजमां उत्तरकाशी का लाल धान चकराता एवं नैनीताल का मक्का आदि इन फसलों का संरक्षण एवं प्रोत्साहन किए जाने की आवश्यकता है। कृषि विभाग द्वारा स्थानीय फसलों के बीजों को बीज श्रृंखला में सम्मिलित करने हेतु जी0आई0 टैग (भौगोलिक पहचान) प्रदान कराये जाने का प्रयास किया जा रहा है,जिसके क्रम में मुनस्यारी राजमा को जी0आई0 टैग भारत सरकार द्वारा प्रदान किया जा चुका है, तथा अन्य 11 फसलों तथा लाल धान, बेरीनाग चाय, गहत, मडुआ, झंगोरा, काला भट्ट, बुरास, शरबत, चौलाई/रामदाना, अल्मोडा लखोडी मिर्च, पहाडी तोर दाल और माल्टा फ्रूट में जी0आई0 टैग प्रदान किये जाने हेतु कार्यवाही गतिमान है। शोध संस्थानों द्वारा उक्तानुसार स्थानीय फसलों की विशेषताओं को संरक्षित रखते हुए इन्हें ट्रुथफुल लेवल (टीएल) सीड्स के रूप में बीज श्रृंखला में लाये जाने हेतु आवश्यक प्रयास किये जाने की आवश्यकता है। पर्वतीय क्षेत्रों हेतु संकर धान तथा महीन धान प्रजाति विकसित किये जाने की आवश्यकता है। उन्होनें जैविक खाद, प्रभारी जैविक कीटनाशक, जंगली जानवरों की समस्या को भी बैठक में रखा।

उन्होंने आईसीएआर द्वारा किये गये शोध पर कहा कि उत्तराखण्ड जैविक प्रदेश की तरफ अग्रसर है और प्रदेश के 10 विकासखण्डों को जैविक ब्लाक बनाया गया है। उन्होंने सर्वे से ज्ञात हुआ है कि उत्तराखण्ड में चावल और मक्का उत्पादन में कमी है, इसके लिए मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को कार्ययोजना बनाये जाने के निर्देश दिये। केन्द्रीय पशुपालन मंत्री द्वारा कृषि विज्ञान केन्द्रों में पशुपालन मोबाईल टीम लगाये जाने पर मंत्री ने कहा कि यह अत्यधिक लाभकारी निर्णय साबित होगा। उन्होनें आईसीएआर के शोध में ज्ञात हुए उत्तराखण्ड में कृषि और बागवानी से सम्बन्धित सूचनाओं को भौतिक रुप के साथ-साथ सोशल मीडिया के माध्यम से भी कृषकों तक पहुंचाने के लिए प्रतिबद्धता जताई।

बैठक में उत्तराखण्ड की ओर से कृषि मंत्री के साथ कृषि निदेशक गौरीशंकर ने भी प्रतिभाग किया।

RELATED ARTICLES

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने होमगार्डस एवं नागरिक सुरक्षा के स्थापना दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया।

उत्तराखंड; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को ननूरखेड़ा, देहरादून में होमगार्डस एवं नागरिक सुरक्षा के स्थापना दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया।...

SDM के सख्त निर्देश, हरकी पैड़ी क्षेत्र से दो दिन में हटाएं अतिक्रमण, वरना कब्जों पर चलेगी जेसीबी

उत्तराखंड, हरिद्वार ; हरिद्वार प्रशासन ने हरकी पैड़ी क्षेत्र के व्यापारियों को अतिक्रमण खुद हटाने के लिए दो दिन का समय दिया है। इसके बाद...

महाराज का एक्शन, हरकत में आये राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारी

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 121 की खराब गुणवत्ता के लिए संबंधित कंपनी पर तय की गयी जिम्मेदारी देहरादून  ; राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 121 (309) के किमी0 128.00...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने होमगार्डस एवं नागरिक सुरक्षा के स्थापना दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया।

उत्तराखंड; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को ननूरखेड़ा, देहरादून में होमगार्डस एवं नागरिक सुरक्षा के स्थापना दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया।...

SDM के सख्त निर्देश, हरकी पैड़ी क्षेत्र से दो दिन में हटाएं अतिक्रमण, वरना कब्जों पर चलेगी जेसीबी

उत्तराखंड, हरिद्वार ; हरिद्वार प्रशासन ने हरकी पैड़ी क्षेत्र के व्यापारियों को अतिक्रमण खुद हटाने के लिए दो दिन का समय दिया है। इसके बाद...

महाराज का एक्शन, हरकत में आये राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारी

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 121 की खराब गुणवत्ता के लिए संबंधित कंपनी पर तय की गयी जिम्मेदारी देहरादून  ; राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 121 (309) के किमी0 128.00...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुनस्यारी स्थित जोहार क्लब मैदान में आयोजित मुनस्यारी महोत्सव 2022 का किया शुभारंभ।

 उत्तराखंड,  देहरादून : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुनस्यारी स्थित जोहार क्लब मैदान में आयोजित मुनस्यारी महोत्सव 2022 का शुभारंभ किया। इस अवसर...

पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा ने गोवंश भरण पोषण हेतु 10 करोड़ 48 लाख रुपये की धनराशि के चेक किए वितरित

देहरादून। प्रदेश के पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा ने पशुधन भवन सभागार में गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा संचालित 39 गो सदनों हेतु गोवंश भरण पोषण हेतु...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से बागपत के सांसद एवं पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. सत्यपाल सिंह ने शिष्टाचार भेंट की।

    उत्तराखंड, देहरादून : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में बागपत के सांसद एवं पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. सत्यपाल...

राज्यपाल गुरमीत सिंह व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने IAS राकेश को ‘World Book of Records’ के एक्सीलेंस अवार्ड से किया सम्मानित

उत्तराखंड, देहरादून। उत्तराखंड के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) गुरमीत सिंह व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजभवन देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखंड लोक सेवा...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से नेपाल के सांसद अमरेश कुमार सिंह ने शिष्टाचार भेंट की।

    उत्तराखंड, Dehradun: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से रविवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में नेपाल के सांसद अमरेश कुमार सिंह ने शिष्टाचार भेंट की।

देहरादून स्मार्ट सिटी लिमिटेड की दून कनैक्ट सेवा के अंतर्गत 20 बसों का संचालन देहरादून शहर के 04 मार्गों पर पहले से किया  जा...

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 10 इलैक्ट्रिक बसों का शुभारंभ किया  आई०एस०बी०टी० से मालदेवता और आई०एस०बी०टी० से सहसपुर रोड चलेंगी इलैक्ट्रिक बसें देहरादून ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह...

केदारनाथ की तर्ज पर अब महासू देवता व जागेश्वर मंदिर का बनेगा मास्टर प्लान : पर्यटन मंत्री महाराज

देहरादून। श्री बद्रीनाथ, श्री केदारनाथ धाम की तर्ज पर अब हनोल स्थित महासू देवता और अल्मोड़ा स्थित जागेश्वर मंदिर के विकास हेतु मास्टर प्लान...