Sunday, June 26, 2022
Home हेल्थ एप्पल साइडर विनेगर: हार्ट अटैक का खतरा करता है कम, वजन और...

एप्पल साइडर विनेगर: हार्ट अटैक का खतरा करता है कम, वजन और ब्लड शुगर को भी रखता है कंट्रोल में

♦♦♦

एप्पल साइडर विनेगर यानी सेब का सिरका सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है। एप्पल साइडर विनेगर को सेब के रस को फर्मेंट करके बनाया जाता है। वजन घटाने के लिए ज्यादातर लोग सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में सेब के सिरके का इस्तेमाल करते हैं। वैसे इसे कई प्रकार के व्यंजन का स्वाद बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। ईरान में हुई एक स्टडी में सामने आया है कि यह ट्राईग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल का लेवल घटाने का भी काम करता है। एक्सपर्ट कहते हैं, इसके कई फायदे हैं, लेकिन एपल साइडर विनेगर का इस्तेमाल सीमित मात्रा में करें वरना नुकसान भी हो सकता है। एक दिन में 30 एमएल से ज्यादा इसका इस्तेमाल न करें।

क्या है एपल साइडर विनेगर और काम कैसे करता है?
एप्पल साइडर विनेगर का उपयोग औषधीय रूप से भी किया जाता है। इसमें एसिटिक एसिड और साइट्रिक एसिड होता है। इसके अलावा इसमें विटामिन बी और सी जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर को कई लाभ पहुंचाने में मदद करते हैं। सिट्रिक एसिड होने के कारण पाचन बेहतर होता है। इसे पानी में मिलाकर पीने की सलाह दी जाती है।
एपल साइडर विनेगर के फायदे और इस्तेमाल करने का तरीका

बालों में संक्रमण खत्म करता है
अगर सिर में फंगल या बैक्टीरियल इंफेक्शन तो इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। एक चौथाई कप पानी में दो छोटे चम्मच एपल विनेगर को मिलाएं। शैंपू करने के बाद इसे स्कैल्प पर लगाएं। सिर को तौलिया से कवर करें और 20 बाद इसे पानी से धो लें। बालों में चमक आने के साथ पीएच लेवल भी मेंटेन रहता है।

पिंपल्स और धब्बों को दूर करता है
अगर चेहरे पर धब्बे, पिंपल्स और मुंहासों की समस्या है तो एक कप पानी में एक चम्मच एपल विनेगर मिलाएं। इसे रूई की मदद से प्रभावित हिस्से पर लगाएं। 10 मिनट बाद इसे धो लें। इसे दिन में आप दो बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

भूख कंट्रोल करके वजन को घटाता है
मोटापा आज के समय की एक आम समस्या में से एक है। अगर वजन बढ़ रहा है तो इसे डेली रूटीन में शामिल करें। एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच एपल साइडर विनेगर को खाना खाने के 45 मिनट पहले पिएं। इससे वजन कम होने के साथ ही मेटाबॉलिज्म तेज होता है। साथ ही यह ब्लड शुगर लेवल और भूख दोनों को कंट्रोल करता है।

बैड कोलेस्ट्रॉल को करता कम
कई अध्ययनों में भी सामने आया है कि यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का स्तर कम करता है। साथ ही खून को भी पतला करता है। जिससे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और हार्ट डिजीज का खतरा कम होता है।
पाचन के लिए सेब के सिरके का एसिडिक नेचर होता है और ये उन लोगों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है, जिनको गैस की समस्या रहती है। यह खाने को पचाने और डाइजेशन को दुरुस्त रखने में भी मदद कर सकता है।

जोड़ों के दर्द के लिए सुबह रोजाना एक चम्मच सिरके का सेवन कर आप जोड़ों के दर्द से राहत पा सकते हैं। सेब के सिरके में ऐसे बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हड्डियों को मजबूत बनाने और जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं।

डायबिटीज के लिए डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद माना जाता है सेब के सिरके का सेवन। एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ सिरके का सेवन कर डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है।

साइड इफेक्ट से बचने के लिए ये बातें ध्यान रखें
कभी भी सेब के सिरके का इस्तेमाल अधिक मात्रा में न करें। ऐसा करने पर उल्टी की शिकायत हो सकती है। शरीर में ब्लड शुगर का लेवल अधिक गिर सकता है। एसिडिक होने के कारण यह पेट, स्किन और दांतों की ऊपरी लेयर को नुकसान हो सकता है।

घर पर तैयार करें विनेगर
– एक चौड़े मुंह वाला शीशे का जार लें, इसमें सेब के छोटे-छोटे टुकड़े काटकर डाल दें।
– चेक कर लें अगर सेब के छिलके पर मोम की पर्त नहीं है तो छिलके समेत ही काटकर डाल सकती हैं वरना छिलका हटाकर डालें।

– टुकड़ों को जार में डालें। ऊपर से थोड़ी शक्कर डालें। अब जार में पानी डालें। ध्यान रखें इसे पूरा ऊपर तक न भरें।
– इसमें एपल विनेगर बैक्टीरिया डालें, ये मार्केट में उपलब्ध है। अब इसे लकड़ी के ही चम्मच से मिलाएं।
– ध्यान रखें कि इसे 360 डिग्री नहीं चलाना है मिलाने के लिए ऊपर से नीचे सेब के टुकड़ों को धकेलते हुए मिलाना है।
– जार पर सूती कपड़ा बांधकर अंधेरे में रख दें। करीब 3 महीने लगेगा इसे तैयार होने में। हर 7 दिन के अंतराल पर इसे चम्मच से हिलाएं।
– 3 महीने बाद यह तैयार होने के पर हल्का पीला दिखता है। इसे छानकर इस्तेमाल कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

रोज सुबह उठते ही खाए हरा सेब, जानिए क्या है इसके फायदे

♣♣♣ सेब खाना तो सभी को पसंद होता है, ऐसा इसलिए क्योंकि मीठे सेब काफी स्वादिष्ट होते हैं। वैसे सेब केवल खाने में ही नहीं,...

गर्मी का मौसम ; होंठ फटने से रहते हैं परेशान? जानिए बचाव के उपाय

♦♦♦ गर्मी का मौसम हमारी सेहत के लिए कई प्रकार से चुनौतीपूर्ण होता है। हीट वेब के कारण होने वाली समस्याओं से लेकर, आंखों की एलर्जी,...

( High Cholesterol ) कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने पर शरीर देता है ये संकेत, हो जाएं सतर्क

♦♦♦ " Symptoms Of High Cholesterol  " ♦♦♦   शरीर में स्वस्थ कोशिकाओं के निर्माण के लिए रक्त में अच्छे कोलेस्ट्रोल की मात्रा को बनाए रखने...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

खेल मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ मंच पर विराजमान होकर कार्यक्रम की अध्यक्षता की।

उत्तराखंड, गुजरात  आज केवड़िया (गुजरात) में दो दिवसीय नेशनल कांफ्रेंस ऑफ मिनिस्टर्स ऑफ यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्ट्स का दूसरा और आखिरी दिन था। अपरान्ह के...

इंडियन ऑयल ने लॉन्च किया सौर चूल्हा , अब खाना पकाना होगा बेहद सस्ता, जानिए इसकी खासियत

New दिल्ली; भारत की प्रमुख तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने बुधवार को घर के अंदर इस्तेमाल किया जाने वाला सौर चूल्हा पेश किया,...

CM धामी ने लोकतंत्र सेनानियों के सम्मान समारोह कार्यक्रम में किया प्रतिभाग, 27 लोकतंत्र सेनानियों और उनके परिजनों को किया सम्मानित

 उत्तराखंड,  देहरादून :- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को बिगवाड़ा स्थित पार्टी कार्यालय पहुॅचकर ’’आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा हेतु संघर्ष करने एंव...

ससुर ने निभाया पिता का फर्ज, बेटे की मौत के बाद करवाई विधवा बहू की दूसरी शादी

ऋषिकेश ; जिसे कभी बहू बनाकर अपने घर लाए थे, उसे बेटी बनाकर विदा किया। ऐसे उदाहरण समाज में कम ही देखने को मिलते हैं।...

अभद्रता और मारपीट जैसी घटना होने पर चुप न रहे पर्यटक, शिकायत दर्ज कराएं

Rishikesh ; मुनिकीरेती थाना क्षेत्र में राफ्टिंग गाइडों और हेल्परों के पर्यटक के साथ मारपीट करने के कई मामले मामला सामने आए। कुछ मामले में...

आपदा प्रबंधन में मीडिया की भूमिका पर कार्यशाला आयोजित हुई।

आपदा के दौरान मीडिया की होती है अहम भूमिका इस अवसर पर अपर सचिव आपदा प्रबंधन आनन्द श्रीवास्तव ने कहा कि मीडिया की भूमिका आपदा...

……दूरस्थ क्षेत्रों में विज्ञान शिक्षा का प्रचार-प्रसार कर रहा यूसर्क

Tehri Garhwal; विश्वविद्यालय और कालेजों में कार्यरत शिक्षकों में गणितीय प्रतिभा का विकास करने के लिए यहां जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित 13...