Home उत्तराखंड 2017 से पहले अवैध निर्माणों की खुलेंगी फाइलें, सरकार का बढ़ेगा राजस्व

2017 से पहले अवैध निर्माणों की खुलेंगी फाइलें, सरकार का बढ़ेगा राजस्व

रुद्रपुर।

ऊधम सिंह नगर जिले में वर्ष 2017 में विकास प्राधिकरण बनने से पहले हुए अवैध निर्माण कार्यों की हजारों फाइलों को खोलने के निर्देश कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने जिला विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष को दिए हैं। मंडलायुक्त रावत ने कहा कि इसमें सरकार का राजस्व लॉक्ड है जो फाइलें खुलने के बाद ही बढ़ सकता है।

शुक्रवार को कुमाऊं कमिश्नर ने विकास भवन स्थित जिला विकास प्राधिकरण कार्यालय का निरीक्षण किया। इससे पहले कुमाऊं कमिश्नर ने पशुपालन विभाग के सीवीओ से कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी ली। विकास प्राधिकरण कार्यालय के प्रशासनिक अनुभाग का भी जायजा लिया, जहां अधिकारियों की ओर से उन्हें रिक्त पड़े स्टाफ के बारे में जानकारी दी गई। इसके बाद रावत ने विचाराधीन मामलों की फाइलें देखीं जहां उन्हें निर्माण कार्यों के 887 वादों के मामले विचाराधीन मिले। इसके साथ ही 113 अवैध कॉलोनियों के विचाराधीन मामलों में अब तक सिर्फ तीन कॉलोनियों को सील किया गया है।

विकास प्राधिकरण की न्यूनतम कार्यवाही से कुमाऊं कमिश्नर असंतुष्ट हुए। उन्होंने सचिव समेत उपाध्यक्ष को अवैध निर्माण कार्यों में तेजी से कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने कहा कि कोविड-19 के दौरान धीमे पड़े वादों में शीघ्र सुनवाई की जाए। साथ ही जिले में तेजी से चल रहे अवैध निर्माणकार्यों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
कहा कि वर्ष 2017 में विकास प्राधिकरण बनने से पहले जिले में हुए अवैध निर्माण कार्यों की फाइलों को खोला जाए। ताकि उनसे सरकार को राजस्व मिल सके। वहां डीएम युगल किशोर पंत, जिला विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष हरीश चंद्र कांडपाल, सचिव एनएस नबियाल, सीडीओ आशीष भटगाईं, एमएनए विशाल मिश्रा, एसडीएम प्रत्युष सिंह, सीवीओ डॉ. गोपाल सिंह धामी आदि थे।

जिला विकास प्राधिकरण में 38 पद रिक्त
रुद्रपुर। कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने कहा कि प्राधिकरण में स्टाफ का टोटा होने की जानकारी शासन को दी जाएगी। शासन की ओर से आयोग या आउटसोर्स माध्यम से रिक्त पड़े पदों को भरा जाएगा। ताकि विकास प्राधिकरण के कार्य तेजी से हों। इधर, उपाध्यक्ष हरीश कांडपाल ने कहा कि कार्यालय में 50 में से 12 पदों में कर्मचारी तैनात हैं। कार्यालय में आईटी, इंजीनियर, टेक्निशियन, डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद खाली हैं। प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट के हिसाब से आउटसोर्स में ड्रॉफ्ट मैन, बहुउद्देशीय कार्मिक आदि रखे जाएंगे। इनका कार्य विकास प्राधिकरण के प्रोजेक्टों को मॉनीटरिंग करना है। संवाद

कलक्ट्रेट परिसर में पौन एकड़ में बनेगा प्राधिकरण का नया कार्यालय
रुद्रपुर। जिला विकास प्राधिकरण का नया कार्यालय कलक्ट्रेट परिसर में स्टांप कार्यालय के सामने पौन एकड़ भूमि पर बनाया जाएगा। विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष कांडपाल ने कहा कि प्राधिकरण के नए कार्यालय के लिए भूमि मिल गई है। जल्द ही कार्यालय की डीपीआर तैयार कर निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा। वर्तमान में विकास भवन के पीछे कार्यालय होने से लोगों को कार्यालय ढूंढने में दिक्कतें होती हैं।

तारीख पर नहीं पहुंचने वालों के निर्माण कार्यों का सीधा ध्वस्तीकरण होगा
रुद्रपुर। जिला विकास प्राधिकरण में चल रहे लंबित वाद की सुनवाई में नहीं पहुंचने वालों के निर्माण कार्यों के खिलाफ अब सीधे ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी। उपाध्यक्ष कांडपाल ने कहा कि वादों की सुनवाई व प्राधिकरण में कंपाउंडिंग नहीं करने वालों के खिलाफ अब एक्शन लिया जाएगा। लंबित वादों के निस्तारण के लिए कोई दूसरा विकल्प नहीं रह गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया रानीपोखरी जाखन नदी पर बने पुल का लोकार्पण

उत्तराखंड; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज रानीपोखरी में जाखन नदी पर बने नवनिर्मित पुल का लोकार्पण किया। इस दौरान सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक,...