Thursday, February 2, 2023
Home उत्तराखंड केदारघाटी में बिना एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम के उड़ान भर रहे हैं...

केदारघाटी में बिना एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम के उड़ान भर रहे हैं हेलीकॉप्टर, एमआई-26 हेलीपैड पर उतरते अनियंत्रित हो जाता है हेलीकॉप्टर

केदारनाथ

केदारनाथ में लैंडिंग के दौरान एक हेलीकॉप्टर के जमीन से टकराने का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ है। मामले में की जांच के लिए डीजीसीए की टीम भी केदारनाथ पहुंची थी। यह घटना 30 मई की है। वीडियो में दिख रहा है कि केदारनाथ में एमआई-26 हेलीपैड पर उतरते समय हेलीकॉप्टर अनियंत्रित हो जाता है। हेलीकॉप्टर का स्टैंड हेलीपैड पर जोर से टकराता है। इसके बाद हेलीकॉप्टर 270 डिग्री तक मुड़ जाता है। इस दौरान आसपास खड़े यात्री इधर-उधर दौड़ने लगते हैं। हेलीकॉप्टर में पायलट के अलावा पांच यात्री सवार थे। मामले की जांच के लिए नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) की टीम 31 मई को केदारनाथ पहुंची थी। टीम ने हेली कंपनी के अधिकारियों और पायलट से जानकारी ली।

बताया गया कि हेलीकॉप्टर को देहरादून भी ले जाया गया, जहां जांच के बाद फिटनेस प्रमाणपत्र दिया गया। सूत्रों के अनुसार डीजीसीए ने पायलटों के लिए एडवाइजरी भी जारी की है। इसमें कहा गया है कि केदारनाथ व केदारघाटी में हेलीकॉप्टर की लैंडिंग के दौरान पीछे से तेज हवा चल रही हो तो पायलट और अधिक सतर्कता बरतें।

नहीं है एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम
इस वर्ष नौ कंपनियों के हेलीकॉप्टर केदारनाथ के लिए उड़ान भर रहे हें। हालांकि, यहां खराब मौसम की वजह से हमेशा खतरा बना रहता है। गौरीकुंड से केदारनाथ के बीच संकरी घाटी में अचानक मौसम बदल जाता है। ऐसी स्थिति में बिना एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम के हेलीकॉप्टर केदारघाटी में उड़ान भर रहे हैं।

पूर्व में हो चुके हैं हादसे
केदारनाथ हेलीपैड पर 2017 व 2018 में भी हेलीकॉप्टर क्रैश होते-होते बचे हैं। पहली घटना में टेकऑफ के दौरान हेलीकॉप्टर का पिछला हिस्सा दीवार से टकरा गया था। दूसरी घटना में टेकऑफ के पांच मिनट बाद ही हेलीकॉप्टर को इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी थी। तीसरी घटना में हेलीकॉप्टर टेकऑफ के दौरान पीछे की तरफ खिसक कर दीवार से टकरा गया था।

हाईकोर्ट में दायर हुई थी याचिका
2019 में कर्नाटक के एक यात्री ने केदारनाथ यात्रा में पुराने हेलीकॉप्टरों के प्रयोग का आरोप लगाते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। यात्री का कहना था कि केदारनाथ यात्रा में वर्ष 1980 से 90 के दशक में निर्मित सिंगल इंजन के हेलीकॉप्टर उड़ान भर रहे हैं।

हेलीकॉप्टर ऑपरेशन हेड, यूकाडा कर्नल समीर ने कहा हेलीकॉप्टर के रूट चार्ट को लेकर डीजीसीए से निरंतर संपर्क होता है। हेली कंपनियों को एसओपी डीजीसीए ही जारी करता है। हेलीपैड के समीप हार्ड लैडिंग के कई कारण हो सकते हैं। केदारनाथ में एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम को लेकर जल्द डीजीसीए से बातचीत की जाएगी।

जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग मयूर दीक्षित ने कहा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कैसे केदारनाथ हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर की लैंडिंग हुई है। मामला बहुत गंभीर है। हेली कंपनियों को डीजीसीए के नियमों के तहत हेलीकॉप्टर का संचालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

RELATED ARTICLES

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

उत्तराखण्ड की झांकी को देश में प्रथम स्थान के लिये किया गया पुरस्कृत

उत्तराखंड, Dehradun ; कर्तव्य पथ, नई दिल्ली गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखण्ड राज्य की ओर से “मानसखण्ड” की झांकी प्रदर्शित की गई थी मुख्यमंत्री...

जोशीमठ क्षेत्र में हो रहे भूधंसाव व भूस्खलन के सम्बन्ध में अपर मुख्य सचिव आनन्दवर्धन की अध्यक्षता में उच्चाधिकार प्राप्त समिति की बैठक हुई

पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु जिलाधिकारी, चमोली द्वारा प्रस्तुत 03 विकल्प पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु विकल्पों के सम्बन्ध में शासन स्तर पर माननीय मंत्रिमण्डल के समक्ष...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

उत्तराखण्ड की झांकी को देश में प्रथम स्थान के लिये किया गया पुरस्कृत

उत्तराखंड, Dehradun ; कर्तव्य पथ, नई दिल्ली गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखण्ड राज्य की ओर से “मानसखण्ड” की झांकी प्रदर्शित की गई थी मुख्यमंत्री...

जोशीमठ क्षेत्र में हो रहे भूधंसाव व भूस्खलन के सम्बन्ध में अपर मुख्य सचिव आनन्दवर्धन की अध्यक्षता में उच्चाधिकार प्राप्त समिति की बैठक हुई

पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु जिलाधिकारी, चमोली द्वारा प्रस्तुत 03 विकल्प पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु विकल्पों के सम्बन्ध में शासन स्तर पर माननीय मंत्रिमण्डल के समक्ष...

धामी राज में हासिल हुई एक और बड़ी उपलब्धि, उत्तराखंड की झांकी मानसखंड को पहला पुरस्कार, टीम लीडर केएस चौहान के नेतृत्व में मिली...

देहरादून। गणतंत्र दिवस की परेड में कर्तव्य पथ पर शामिल उत्तराखंड की मानसखंड झांकी को पहला पुरस्कार मिला है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या...

आयुक्त दीपक रावत ने लाईन नम्बर-8 व 12 वनभूलपुरा में अवैध भवन निर्माण के ध्वस्तीकरण के मौके पर निर्देश दिये ।

उत्तराखंड, हल्द्वानी। आयुक्त दीपक रावत ने लाईन नम्बर-8 व 12 वनभूलपुरा में अवैध भवन निर्माण के ध्वस्तीकरण के मौके पर दिये निर्देश। सोमवार सायं आयुक्त...

कर्तव्य पथ पर पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ने प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

देहरादून  गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया है।...

मुख्यमंत्री के निर्देशों पर आयोजित हो रहे “विद्युत समस्या समाधान शिविर“ में आमजन की समस्याओं का प्राथमिकता पर हो रहा निस्तारण

1400 से अधिक  शिकायतों का अब तक किया गया मौके पर निराकरण कैम्पों में बिजली के बिलों में गड़बड़ी, खराब मीटर, लो वोल्टेज, ट्रांसफार्मर आदि...

उत्तराखंड में स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की कमी को दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयार किया मास्टर प्लान

देहरादून। उत्तराखंड में अब स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की कमी को दूर करने के लिए मास्टर प्लान तैयार किया गया है । राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बच्चों के साथ सुनी प्रधानमंत्री की मन की बात

देहरादून राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान के बच्चों के साथ सुनी मन की बात सीएम ने संस्थान के बच्चों से भी की बातचीत ...