Thursday, February 2, 2023
Home बिज़नेस बुढ़ापे में किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े, नहीं होगी पैसों...

बुढ़ापे में किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े, नहीं होगी पैसों की किल्लत ! हर महीने Account में आएगी मोटी रकम, बस ऐसे करें निवेश

” जवानी शान से गुजरे और बुढ़ापे में किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े, इसके लिए जरूरी है कि जवानी में ही आप रिटायरमेंट की प्लानिंग कर लें. रिटायरमेंट के लिए बहुत सारी स्कीम्स हैं. हम आपको बताने जा रहे हैं इन्हीं में से कुछ भरोसेमंद स्कीम्स के बारे में.”

Retirement Planning: आज के समय में जहां खर्चे तेजी से बढ़ रहे हैं, आपकी कमाई उस रफ्तार से नहीं बढ़ रही है. ऐसे में जब आप जिंदगी के आखिरी पड़ाव यानी रिटायरमेंट पर पहुंचेंगे तो क्या इन खर्चों को पूरा करने के लिए आपके पास पर्याप्त पैसे होंगे, क्योंकि बुढ़ापे में सबसे बड़ा खर्चा आपकी मेडिकल जरूरतों का होता है, जो वक्त के साथ बढ़ता ही है.

ऐसे में जरूरत होती है एक ऐसी स्कीम की जो बुढ़ापे में भी आपको रेगुलर मंथली इनकम देती रहे, ताकि आप किसी पर निर्भर न रहें और आपके खर्चे भी आराम से पूरे हो जाएं. तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी ही भरोसेमंद स्कीम्स के बारे में जो आपको हर महीने रेगुलर कमाई देंगी.

1. प्रधानमंत्री वय वंदन योजना
Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana: देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन (LIC) से आप प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (PMVVY) को खरीद सकते हैं. ये आपको 10 सालों के लिए एक तय रेट पर पेंशन देती है, जो कि रिटायर लोगों के लिए काफी अच्छी स्कीम है. कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 60 साल या इससे ज्यादा है, इस स्कीम में निवेश कर सकता है.
इस स्कीम में अभी 7.4 परसेंट सालाना के हिसाब से ब्याज मिलता है, जो हर महीने भुगतान होता है, इसकी दरें हर साल बदलती हैं. लेकिन एक बार निवेश कर दिया तो पूरी निवेश अवधि के लिए दरें फिक्स हो जाती हैं. इसमें डेथ बेनेफिट भी मिलता है, पॉलिसीधारक की मृत्यु के बाद परचेज प्राइस मनी नॉमिनी को लौटा दिया जाता है.
ये स्कीम 31 मार्च, 2020 को खत्म हो गई थी, लेकिन इसकी कामयाबी को देखते हुए केंद्र सरकार ने इसे 3 साल के लिए बढ़ाकर अब 31 मार्च 2023 तक कर दिया है.
2. सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम
Senior Citizen Saving Scheme: सीनियर सिटिंजस सेविंग्स स्कीम, जैसा कि नाम से ही जाहिर ये स्कीम खास तौर पर रिटायरमेंट के लिए सीनियर सिटिजंस को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है. इस स्कीम पर अभी 7.4 परसेंट सालाना ब्याज मिलता है जो तिमाही आधार पर दिया जाता है. इसमें जो भी निवेश किया जाता है वो आमतौर पर 5 साल में मैच्योर हो जाता है, आप चाहें तो इसे 3 साल के लिए आगे भी बढ़ा सकते हैं.
3. पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम
Post Office Monthly Income Scheme: पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम सरकारी स्मॉल सेविंग्स स्कीम है, जो निवेशकों को हर महीने एक तय रकम कमाई का मौका देती है. इस स्कीम के तहत अकाउंट में सिंगल या ज्वॉइंट अकाउंट के तहत एक मुश्त राशि जमा की जाती है. इस पर सरकार 6.6 परसेंट सालाना ब्याज देती है. ये स्कीम 5 साल की है, जिसे 5-5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं. यह पूरी तरह से रिस्क फ्री स्कीम है क्योंकि सरकार सुरक्षा की गारंटी लेती है. सिंगल अ​काउंट के जरिए अधिकतम 4.5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है.ज्वॉइंट अकाउंट है तो अधिकतम 9 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं. ज्वॉइंट अकाउंट में अधिकतम 3 व्यस्क भी हो सकते हैं. लेकिन अधिकतम लिमिट 9 लाख रुपये की है.
4. सरकारी सिक्योरिटीज 
सरकारी सिक्योरिटीज यानी G-Secs भी एक सुरक्षित निवेश का जरिया है, क्योंकि ये एक डेट इंस्ट्रूमेंट है. ये सिक्योरिटीज केंद्र सरकार और राज्य सरकारें दोनों ही जारी करती हैं. इस स्कीम में निवेश पर आपको रेगुलर ब्याज आय होती है. ये सिक्योरिटीज सरकार की ओर से जारी होती हैं इसलिए इसमें रिस्क की कोई गुंजाइश नहीं होती. सरकारी इसकी पूरी गारंटी लेती है.
RELATED ARTICLES

देहरादून में अब जितनी चौड़ी सड़क उतना ज्‍यादा हाउस टैक्स, जानिए किसको कितना देगा होगा अब हाउस टैक्स

 उत्तराखंड, देहरादून : राजधानी देहरादून में चार वर्ष बाद हाउस टैक्स बढ़ाने की तैयारी चल रही। हालांकि, नगर निगम अधिनियम के अनुसार इसमें हर दो वर्ष...

बिजनेस कमाल का : इस बिजनेस से हर रोज मोटी कमाई, सुबह से शाम तक खरीदारों की रहेगी भीड़

♦ अपना बिजनेस  ♦ अगर आप अपना बिजनेस शुरू करने की तैयारी कर रहे हैं और कम निवेश में मोटा मुनाफा कमाना चाहते हैं. तो...

CEAT Ltd 2-3 साल में आउटलेट को दोगुना करके 1 लाख करेगी : COO अर्नब बनर्जी

नई दिल्ली: CEAT Ltd ने अपनी FMCG शैली के वितरण के माध्यम से 5,000-10,000 की आबादी वाले स्थानों में अपने टायर बिक्री नेटवर्क का...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

उत्तराखण्ड की झांकी को देश में प्रथम स्थान के लिये किया गया पुरस्कृत

उत्तराखंड, Dehradun ; कर्तव्य पथ, नई दिल्ली गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखण्ड राज्य की ओर से “मानसखण्ड” की झांकी प्रदर्शित की गई थी मुख्यमंत्री...

जोशीमठ क्षेत्र में हो रहे भूधंसाव व भूस्खलन के सम्बन्ध में अपर मुख्य सचिव आनन्दवर्धन की अध्यक्षता में उच्चाधिकार प्राप्त समिति की बैठक हुई

पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु जिलाधिकारी, चमोली द्वारा प्रस्तुत 03 विकल्प पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु विकल्पों के सम्बन्ध में शासन स्तर पर माननीय मंत्रिमण्डल के समक्ष...

धामी राज में हासिल हुई एक और बड़ी उपलब्धि, उत्तराखंड की झांकी मानसखंड को पहला पुरस्कार, टीम लीडर केएस चौहान के नेतृत्व में मिली...

देहरादून। गणतंत्र दिवस की परेड में कर्तव्य पथ पर शामिल उत्तराखंड की मानसखंड झांकी को पहला पुरस्कार मिला है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या...

आयुक्त दीपक रावत ने लाईन नम्बर-8 व 12 वनभूलपुरा में अवैध भवन निर्माण के ध्वस्तीकरण के मौके पर निर्देश दिये ।

उत्तराखंड, हल्द्वानी। आयुक्त दीपक रावत ने लाईन नम्बर-8 व 12 वनभूलपुरा में अवैध भवन निर्माण के ध्वस्तीकरण के मौके पर दिये निर्देश। सोमवार सायं आयुक्त...

कर्तव्य पथ पर पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ने प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

देहरादून  गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया है।...

मुख्यमंत्री के निर्देशों पर आयोजित हो रहे “विद्युत समस्या समाधान शिविर“ में आमजन की समस्याओं का प्राथमिकता पर हो रहा निस्तारण

1400 से अधिक  शिकायतों का अब तक किया गया मौके पर निराकरण कैम्पों में बिजली के बिलों में गड़बड़ी, खराब मीटर, लो वोल्टेज, ट्रांसफार्मर आदि...

उत्तराखंड में स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की कमी को दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयार किया मास्टर प्लान

देहरादून। उत्तराखंड में अब स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की कमी को दूर करने के लिए मास्टर प्लान तैयार किया गया है । राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बच्चों के साथ सुनी प्रधानमंत्री की मन की बात

देहरादून राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान के बच्चों के साथ सुनी मन की बात सीएम ने संस्थान के बच्चों से भी की बातचीत ...