Sunday, June 26, 2022
Home उत्तराखंड विधायक हरीश धामी ने कहा - इस पार्टी में नहीं सम्मान, CM...

विधायक हरीश धामी ने कहा – इस पार्टी में नहीं सम्मान, CM के लिए सीट छोड़ने पर दिया ये बयान

उत्तराखंड , धारचूला :-

धारचूला विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक हरीश धामी ने कहा कि जिस पार्टी में सम्मान नहीं, उसे छोड़ भी सकते हैं और अपना अलग दल भी बना सकते हैं। हमने कांग्रेस की स्थिति देख ली। जिस पार्टी में हमने अपना सबकुछ लगाया, उसने हमें नीचा दिखाने का काम किया। धामी के इस बयान से कांग्रेस में हड़कंप मचा है। बकौल धामी, पार्टी के कई वरिष्ठ विधायक देहरादून में बैठकर आगे की रणनीति पर विचार करेंगे।

धामी ने पार्टी के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव पर भी हमला बोला और उन पर गुटबाजी करने का आरोप लगाया और कांग्रेस आलाकमान पर भी जमकर हमला बोला। बुधवार को धामी देहरादून पहुंचे थे। उनके साथ पार्टी के कई और विधायकों के भी राजधानी पहुंचने की चर्चा है। वे देहरादून में किसी स्थान पर मंत्रणा करेंगे। इस मंत्रणा के पीछे उनकी नाराजगी मानी जा रही है। बताया जा रहा है कि वे कांग्रेस आलाकमान के नेता प्रतिपक्ष, प्रदेश अध्यक्ष और उप नेता के चयन को लेकर नाखुश हैं।

साथ ही इस बात से खफा हैं कि नई लीडरशिप तय करने में उनकी राय नहीं ली गई। इस मसले पर धामी ने मीडियाकर्मियों से खुलकर बातचीत की। वे प्रभारी के उस बयान से क्षुब्ध दिखे, जिसमें उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष, प्रदेश अध्यक्ष व उप नेता का चुनाव मेरिट के आधार पर किया गया है। धामी ने कहा कि पार्टी में तीन-तीन बार का चुनाव जीते कई विधायक हैं, लेकिन उनकी अनदेखी कर दी गई।

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पर जमकर बरसे विधायक धामी

कांग्रेस छोड़ने और नई पार्टी बनाने का संकेत दे चुके धारचूला विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक हरीश धामी  कांग्रेस प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव पर जमकर बरसे। उन्होंने कांग्रेस आलाकमान के फैसले पर सवाल उठाए। कहा कि ऐसे व्यक्ति को प्रदेश कांग्रेस का प्रभारी बना दिया गया जो खुद अपने चुनाव में अपनी जमानत नहीं बचा पाया। समीक्षा की जिम्मेदारी उस व्यक्ति को दी गई, जिसने सारी मलाई खा ली। हाईकमान को गलत फीडबैक दिया गया। धामी ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर गणेश गोदियाल को काम नहीं करने दिया गया। प्रभारी खुद ही अध्यक्ष की तरह काम करते रहे। उन्होंने पार्टी का नेतृत्व किया। जिम्मेदार भी वही व्यक्ति है। जब गणेश गोदियाल से इस्तीफा लिया गया तो प्रभारी से इस्तीफा क्यों नहीं लिया गया। धामी ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के झंडे-डंडे कांग्रेस भवन में सड़ते रहे, लेकिन उनकी विधानसभा में नहीं भेजे गए। चाटुकारों को सबकुछ दिया गया। हमने चाटुकारिता नहीं की, इसलिए हमारी अनदेखी हुई।

करन माहरा का फोन आता तो उन्हें भी बधाई देता

धामी ने कहा कि उनको यशपाल आर्य या करन माहरा से कोई शिकवा नहीं है। यशपाल आर्य ने उन्हें फोन किया, उन्होंने उन्हें बधाई दी। करन माहरा का फोन आता तो उन्हें भी बधाई देता। कहा कि मैंने करन माहरा को नेता प्रतिपक्ष बनाए जाने के लिए लड़ाई लड़ी। उनके लिए माता समान इंदिरा हृदयेश का विरोध किया। धामी ने कहा कि वह तीन बार के विधायक हैं। 2014 में हरीश रावत के अस्वस्थ होने पर उनके लिए धारचूला की सीट छोड़ी और उन्हें चुनाव जितवाया। पार्टी के लिए हमने अपना सबकुछ लगाया, लेकिन हमें नीचा दिखाने का काम हुआ। विधायकों व पूर्व विधायकों को संगठन में उपाध्यक्ष, महासचिव बनाया गया और मुझे नीचा दिखाने के लिए 116वें स्थान पर प्रदेश सचिव का दायित्व दिया गया।

क्षेत्र के विकास के लिए सीट भी छोड़ दूंगा

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिए धारचूला सीट खाली करने के सवाल पर हरीश धामी ने कहा कि उनकी इस बारे में अभी कोई बात नहीं हुई है लेकिन ऐसी कोई बात होगी तो वह क्षेत्र की जनता से बात करेंगे। क्षेत्र के विकास के लिए उन्हें सीट छोड़नी पड़ेगी तो वह सीट भी छोड़ देंगे।

आप विधायक बन गए, खुदा नहीं बन गए : करन माहरा

कांग्रेस की बागडोर हाथों में आने के बाद नए प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा के तेवर तल्ख हैं। पार्टी में विघटन की आशंकाओं से जुड़े सवाल पर माहरा ने कहा कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है लेकिन उनका मानना है कि चुनाव में पार्टी की विचारधारा, पार्टी के काम, कार्यकर्ताओं की मेहनत से जीत मिलती है। जब कोई चुना जाता है तो उसकी जिम्मेदारी है कि वह उस विचारधारा और कार्यकर्ता की भावना की रक्षा करे। यदि भाजपा से जीतकर कांग्रेस में चला जाऊं तो यह उन लोगों के साथ छल होगा जिन्होंने विचारधारा को वोट किया था। उन्होंने कहा कि विधायक बन गए तो आप खुदा नहीं बन गए। वहीं पार्टी के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कहा कि अगर किसी को भी कुछ भी गलत लगता है तो उसे सोशल मीडिया या मीडिया में प्रतिक्रिया देने के स्थान पर पार्टी फोरम पर बात करनी चाहिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

खेल मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ मंच पर विराजमान होकर कार्यक्रम की अध्यक्षता की।

उत्तराखंड, गुजरात  आज केवड़िया (गुजरात) में दो दिवसीय नेशनल कांफ्रेंस ऑफ मिनिस्टर्स ऑफ यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्ट्स का दूसरा और आखिरी दिन था। अपरान्ह के...

इंडियन ऑयल ने लॉन्च किया सौर चूल्हा , अब खाना पकाना होगा बेहद सस्ता, जानिए इसकी खासियत

New दिल्ली; भारत की प्रमुख तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने बुधवार को घर के अंदर इस्तेमाल किया जाने वाला सौर चूल्हा पेश किया,...

CM धामी ने लोकतंत्र सेनानियों के सम्मान समारोह कार्यक्रम में किया प्रतिभाग, 27 लोकतंत्र सेनानियों और उनके परिजनों को किया सम्मानित

 उत्तराखंड,  देहरादून :- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को बिगवाड़ा स्थित पार्टी कार्यालय पहुॅचकर ’’आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा हेतु संघर्ष करने एंव...

ससुर ने निभाया पिता का फर्ज, बेटे की मौत के बाद करवाई विधवा बहू की दूसरी शादी

ऋषिकेश ; जिसे कभी बहू बनाकर अपने घर लाए थे, उसे बेटी बनाकर विदा किया। ऐसे उदाहरण समाज में कम ही देखने को मिलते हैं।...

अभद्रता और मारपीट जैसी घटना होने पर चुप न रहे पर्यटक, शिकायत दर्ज कराएं

Rishikesh ; मुनिकीरेती थाना क्षेत्र में राफ्टिंग गाइडों और हेल्परों के पर्यटक के साथ मारपीट करने के कई मामले मामला सामने आए। कुछ मामले में...

आपदा प्रबंधन में मीडिया की भूमिका पर कार्यशाला आयोजित हुई।

आपदा के दौरान मीडिया की होती है अहम भूमिका इस अवसर पर अपर सचिव आपदा प्रबंधन आनन्द श्रीवास्तव ने कहा कि मीडिया की भूमिका आपदा...

……दूरस्थ क्षेत्रों में विज्ञान शिक्षा का प्रचार-प्रसार कर रहा यूसर्क

Tehri Garhwal; विश्वविद्यालय और कालेजों में कार्यरत शिक्षकों में गणितीय प्रतिभा का विकास करने के लिए यहां जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित 13...