Sunday, June 26, 2022
Home उत्तराखंड 2014 से पहले ऋषि मुनियों के मानव कल्याण के लिए योग को...

2014 से पहले ऋषि मुनियों के मानव कल्याण के लिए योग को कोई नहीं जानता था : कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या

उत्तराखंड, देहरादून:

कैबिनेट मंत्री श्रीमती रेखा आर्या आज पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार , भारतीय प्राणी सर्वेक्षण उत्तरी केंद्र देहरादून व माटी संस्था के साथ बिल्डिंग ड्रीम फाउंडेशन के सहयोग से भारतीय प्राणी स्थल देहरादून में आज भारत की आजादी के 75 वर्ष को मनाने के लिए कार्यक्रम ” योग दिवस 2022″ , जिसकी थीम “मानवता के लिए योग” है में शामिल हुई । साथ ही इस दौरान उन्होंने नेचर ट्रेल का शुभारम्भ भी किया व प्राणी सर्वेक्षण के पारिस्थितिकी म्यूजियम का अवलोकन भी किया।

8 वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर माननीय मंत्री महोदया ने अपने संबोधन में कहा कि अगर हमें बिना पैसे के अपने आप को फिट रखना है तो हमें भारत की प्राचीन पद्धति योग को अपनाना होगा। ऋषि मुनियों के हजारों सालों के अथक प्रयासों के बाद उन्होंने मानव के लिए स्वस्थ जीवन को बनाने के लिए योग पद्धति को ईजाद किया लेकिन धीरे- धीरे हमारा समाज इन सबको भूलता गया । उन्होंने कहा कि शायद ही 2014 से पहले किसी को योग के बारे में पता होगा, लेकिन हमारे यशश्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूरे विश्व को योग के लिए आह्वान किया जिसके फलस्वरूप 170 देशों ने अपनी सहमति दी जिसके बाद आज हम अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस विश्व स्तर पर मना पा रहे हैं। माननीय मंत्री ने कहा कि अगर हमें बिना पैसे के स्वस्थ रहना है और डॉक्टरों के चक्कर नहीं काटने हैं तो हमें योग अपनाना होगा।

इस दौरान माननीय मंत्री श्रीमती रेखा आर्या जी ने आये बच्चों, वैज्ञानिकों व अन्य लोगों के साथ योग भी किया।

मंत्री महोदया ने कहा कि योग केवल इस दिन तक सीमित न होकर सभी को अपने जीवन में हर दिन अपनाना होगा तभी हम स्वस्थ भारत की परिकल्पना को साकार कर सकते हैं।

इस दौरान डॉ. गौरव शर्मा, प्रभारी अधिकारी, और भारतीय प्राणी सर्वेक्षण विभाग के प्रमुख, उत्तरी क्षेत्रीय केंद्र, देहरादून; डॉ. कैलाश चंद्र, पूर्व निदेशक, जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया मुख्यालय, कोलकाता; डॉ. रंजीत सिंह, वैज्ञानिक और प्रमुख, कीट विज्ञान विभाग, वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून; डॉ। एस.के. सिंह, प्रभारी अधिकारी और कार्यालय प्रमुख, भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण, उत्तरी क्षेत्रीय केंद्र, देहरादून; प्रो. वी के वालिया, जूलॉजी विभाग, सेवानिवृत्त प्रोफेसर, पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ और विपिन चौधरी, प्रबंध निदेशक, राणा फार्म क्लब, देहरादून, डॉ सुरभी जायसवाल , रंजीत सहित अन्य अधिकारी, वैज्ञानिक व कर्मचारीगण मोजूद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

खेल मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ मंच पर विराजमान होकर कार्यक्रम की अध्यक्षता की।

उत्तराखंड, गुजरात  आज केवड़िया (गुजरात) में दो दिवसीय नेशनल कांफ्रेंस ऑफ मिनिस्टर्स ऑफ यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्ट्स का दूसरा और आखिरी दिन था। अपरान्ह के...

इंडियन ऑयल ने लॉन्च किया सौर चूल्हा , अब खाना पकाना होगा बेहद सस्ता, जानिए इसकी खासियत

New दिल्ली; भारत की प्रमुख तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने बुधवार को घर के अंदर इस्तेमाल किया जाने वाला सौर चूल्हा पेश किया,...

CM धामी ने लोकतंत्र सेनानियों के सम्मान समारोह कार्यक्रम में किया प्रतिभाग, 27 लोकतंत्र सेनानियों और उनके परिजनों को किया सम्मानित

 उत्तराखंड,  देहरादून :- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को बिगवाड़ा स्थित पार्टी कार्यालय पहुॅचकर ’’आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा हेतु संघर्ष करने एंव...

ससुर ने निभाया पिता का फर्ज, बेटे की मौत के बाद करवाई विधवा बहू की दूसरी शादी

ऋषिकेश ; जिसे कभी बहू बनाकर अपने घर लाए थे, उसे बेटी बनाकर विदा किया। ऐसे उदाहरण समाज में कम ही देखने को मिलते हैं।...

अभद्रता और मारपीट जैसी घटना होने पर चुप न रहे पर्यटक, शिकायत दर्ज कराएं

Rishikesh ; मुनिकीरेती थाना क्षेत्र में राफ्टिंग गाइडों और हेल्परों के पर्यटक के साथ मारपीट करने के कई मामले मामला सामने आए। कुछ मामले में...

आपदा प्रबंधन में मीडिया की भूमिका पर कार्यशाला आयोजित हुई।

आपदा के दौरान मीडिया की होती है अहम भूमिका इस अवसर पर अपर सचिव आपदा प्रबंधन आनन्द श्रीवास्तव ने कहा कि मीडिया की भूमिका आपदा...

……दूरस्थ क्षेत्रों में विज्ञान शिक्षा का प्रचार-प्रसार कर रहा यूसर्क

Tehri Garhwal; विश्वविद्यालय और कालेजों में कार्यरत शिक्षकों में गणितीय प्रतिभा का विकास करने के लिए यहां जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित 13...