Sunday, June 26, 2022
Home उत्तराखंड सरकार का बजट अर्थव्यवस्था को डैमेज करने वाला बजट, मंत्री सवालों के...

सरकार का बजट अर्थव्यवस्था को डैमेज करने वाला बजट, मंत्री सवालों के जवाब देने में नाकाम : जोत सिंह बिष्ट, प्रदेश संगठन समन्वय, आप

उत्तराखंड :

आम आदमी पार्टी के प्रदेश संगठन समन्वयक और वरिष्ठ नेता जोत सिंह बिष्ट ने प्रदेश में चल रहे बजट सत्र को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा कि विधानसभा के बजट सत्र के पहले और दूसरे दिन विपक्ष और सत्तापक्ष के विधायकों के प्रश्नों का उत्तर देने में सत्ता पक्ष के मंत्री जवाब देने में लड़खड़ाते नजर आए। सरकार द्वारा कल जो बजट पेश किया गया उसमें राज्य के बेरोजगार नौजवानों खासकर वह लोग जो 2020 और 2021 में कोरोना के लॉक डाउन के दौर से बेरोजगार होकर घर बैठे हैं का पलायन रोकने तथा उन्हें स्वरोजगार से जोड़ने के लिए कोई ठोस प्रावधान नहीं किया गया।
उन्होंने कहा कि यह बजट भाजपा के नेताओं के जुमलों की तरह बहुत लोग लुभावना लगता है लेकिन बारीकी से अध्ययन करने पर पता चलता है कि बजट में आम आदमी की आय बढ़ाने के लिए प्रावधान करने के बजाए ,लोगों को बेरोजगारी से जूझने के लिए छोड़ दिया गया है। हकीकत यह है कि बजट में किए गए प्रावधानों के कारण राज्य का हर नागरिक जो आज राज्य सरकार की गलत नीतियों के कारण ₹74000 का कर्जदार है अगले 1 साल में ₹85000 का कर्जदार हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि सरकार अपने खर्च चलाने एवं विकास योजनाओं तथा जल कल्याणकारी योजनाओं के संचालन के लिए अपने संसाधन बढ़ाने के बजाय लगातार कर्ज लेकर राज्य की जनता पर कर्ज का बोझ लग रही है।

उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार का नारा भी फेल होता दिख रहा है। भाजपा सरकार की प्राथमिकता सूची में गैरसैंण अब गैर हो गया है ,यही कारण है कि ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित करने के बावजूद पुष्कर सिंह धामी जैसे युवा मुख्यमंत्री भी विधानसभा का ग्रीष्मकालीन सत्र गैरसैंण में कराने का साहस नहीं कर पाए। साथ ही गैरसैंण में राजधानी निर्माण के लिए ना पिछले 5 साल में और ना इस बजट में ₹1 का प्रावधान किया गया है

उससे साफ प्रतीत होता है कि भाजपा की यह सरकार पहाड़ी क्षेत्रों के विकास की उपेक्षा के लिए कृत संकल्पित है। सरकार को चाहिए था कि राज्य से कर्ज का बोझ कम करने के लिए राज्य में बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ने के लिए तथा किसानों की हकीकत में आए बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार से एक लाख करोड़ का आर्थिक पेकेज लेकर आती।

राज्य की सरकार का यह बजट पूरी तरह से राज्य की अर्थव्यवस्था को डैमेज करने वाला बजट है और राज्य की कैबिनेट के सदस्य अपने विभाग के प्रश्नों का उत्तर सही तरीके से ना देकर गैर जिम्मेदारी का परिचय दे रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

खेल मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ मंच पर विराजमान होकर कार्यक्रम की अध्यक्षता की।

उत्तराखंड, गुजरात  आज केवड़िया (गुजरात) में दो दिवसीय नेशनल कांफ्रेंस ऑफ मिनिस्टर्स ऑफ यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्ट्स का दूसरा और आखिरी दिन था। अपरान्ह के...

इंडियन ऑयल ने लॉन्च किया सौर चूल्हा , अब खाना पकाना होगा बेहद सस्ता, जानिए इसकी खासियत

New दिल्ली; भारत की प्रमुख तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने बुधवार को घर के अंदर इस्तेमाल किया जाने वाला सौर चूल्हा पेश किया,...

CM धामी ने लोकतंत्र सेनानियों के सम्मान समारोह कार्यक्रम में किया प्रतिभाग, 27 लोकतंत्र सेनानियों और उनके परिजनों को किया सम्मानित

 उत्तराखंड,  देहरादून :- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को बिगवाड़ा स्थित पार्टी कार्यालय पहुॅचकर ’’आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा हेतु संघर्ष करने एंव...

ससुर ने निभाया पिता का फर्ज, बेटे की मौत के बाद करवाई विधवा बहू की दूसरी शादी

ऋषिकेश ; जिसे कभी बहू बनाकर अपने घर लाए थे, उसे बेटी बनाकर विदा किया। ऐसे उदाहरण समाज में कम ही देखने को मिलते हैं।...

अभद्रता और मारपीट जैसी घटना होने पर चुप न रहे पर्यटक, शिकायत दर्ज कराएं

Rishikesh ; मुनिकीरेती थाना क्षेत्र में राफ्टिंग गाइडों और हेल्परों के पर्यटक के साथ मारपीट करने के कई मामले मामला सामने आए। कुछ मामले में...

आपदा प्रबंधन में मीडिया की भूमिका पर कार्यशाला आयोजित हुई।

आपदा के दौरान मीडिया की होती है अहम भूमिका इस अवसर पर अपर सचिव आपदा प्रबंधन आनन्द श्रीवास्तव ने कहा कि मीडिया की भूमिका आपदा...

……दूरस्थ क्षेत्रों में विज्ञान शिक्षा का प्रचार-प्रसार कर रहा यूसर्क

Tehri Garhwal; विश्वविद्यालय और कालेजों में कार्यरत शिक्षकों में गणितीय प्रतिभा का विकास करने के लिए यहां जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित 13...