Thursday, February 2, 2023
Home राष्ट्रीय बाबा साहेब के बताए मार्ग और सिद्धांतों पर चल रही है राज्य...

बाबा साहेब के बताए मार्ग और सिद्धांतों पर चल रही है राज्य सरकार : मुख्यमंत्री शिवराज

मध्य-प्रदेश

पंचतीर्थ के प्रमुख स्थानों को जोड़ा जाएगा मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना से
श्रद्धालुओं के लिये बनाई जाएगी धर्मशाला
अम्बेडकर जयंती उत्सवी वातावरण में श्रद्धा एवं आस्था के साथ मनी
मुख्यमंत्री चौहान ने भव्य जन्म स्मारक पर किये श्रद्धा-सुमन अर्पित

संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती आज उनकी जन्म-स्थली अम्बेडकर नगर महू में पूर्ण श्रद्धा एवं आस्था के साथ मनाई गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनकी जन्म-स्थली पर बने भव्य स्मारक में स्थापित प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा-सुमन अर्पित किए। साथ ही स्मारक स्थल पर बाबा साहेब के अस्थि-कलश के दर्शन कर पुष्पांजलि अर्पित की।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि बाबा साहेब अम्बेडकर के जीवन से जुड़े पंचतीर्थ के प्रमुख स्थालों को तीर्थ-दर्शन योजना से जोड़ा जाएगा। श्रद्धालुओं को राज्य शासन के खर्च पर इन तीर्थ-स्थलों की नि:शुल्क यात्रा करायी जायेगी। यात्रियों के लिये भोजन, भ्रमण और ठहरने आदि सभी का खर्च राज्य शासन द्वारा उठाया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अम्बेडकर नगर महू में बने जन्म स्मारक में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए यथोचित स्थान पर धर्मशाला का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन को राजस्व भूमि चिन्हित करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर के बताए मार्ग और सिद्धांतों पर ही चलकर कार्य कर रही है। समाज के वंचित वर्ग को सामान्य स्तर पर लाने में कोई कोर-कसर नहीं रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि हमारा फर्ज है कि हम सामाजिक न्याय और समरसता पर चलकर एक बेहतर शासन व्यवस्था दें। सामाजिक न्याय एवं सामाजिक समरसता एक मूल मंत्र है। हमारा प्रयास है कि समाज के सभी वर्गों को न्याय मिले और समाज में समरसता का वातावरण रहे। उन्होंने कहा कि समाज में जो अंतिम छोर पर हैं, वह हमारे लिए सबसे पहले हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहेब ने शिक्षित बनो, संगठित रहो और संघर्ष करो का मूल मंत्र दिया था। इस मूल मंत्र को आत्मसात कर हम उनके सपनों को साकार कर सकते हैं। उनके बताए मार्ग पर चलकर सामाजिक व्यवस्था को बेहतर बनाया जा सकता है। हम एक अच्छे समाज का निर्माण कर सकते हैं। समता-मूलक समाज की स्थापना की दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं।

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने कहा कि डॉ. अम्बेडकर नगर महू पवित्र भूमि है। यहाँ से डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर, टंट्या मामा सहित अन्य विभूतियों का जुड़ाव रहा है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब के आदर्श और सिद्धांतों पर हमें चलना होगा, जिससे बुद्धिमान तथा ज्ञानवान बनकर हम राष्ट्रहित के अधिक से अधिक कार्य कर सकें। उन्होंने कहा कि मेहनत और ईमानदारी से अपने कर्त्तव्यों का निर्वहन करते हुए राष्ट्र विकास में भागीदार बनें। कार्यक्रम के प्रारंभ में स्मारक समिति के सचिव श्री राजेश वानखेड़े ने स्वागत भाषण दिया। सांसद श्री छतर सिंह दरबार, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री जयपाल सिंह चावड़ा सहित विधायक, जन-प्रतिनिधि, अधिकारी और बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने किया भोजन

मुख्यमंत्री चौहान बाबा साहेब की जन्म-स्थली पर श्रद्धालुओं के लिए की गई भोजन व्यवस्था में भी शामिल हुए और दोपहर का भोजन किया। उन्होंने कहा कि श्रद्धेय बाबा साहेब के चरणों से धन्य उनकी जन्म-स्थली अम्बेडकर नगर की पवित्र धरती पर भोजन ग्रहण करने का आज सौभाग्य प्राप्त हुआ। इस अप्रतिम भूमि पर मानो भोजन स्वयंमेव ही विशिष्ट बन गया, जिससे मन में सेवा का पुण्य-भाव और प्रबल हुआ है।

श्रद्धालुओं के लिए की गई व्यवस्थाओं को सराहा

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल के बाद आज हुए कार्यक्रम में बाबा साहेब की जन्म-स्थली पर आने वाले श्रद्धालुओं और भक्तों के लिए जिला प्रशासन ने बेहतर व्यवस्थाएँ की। इसके लिये जिला प्रशासन की पूरी टीम को मुख्यमंत्री ने बधाई दी और सराहना भी की। यहाँ आये श्रद्धालुओं ने भी शासन और प्रशासन के प्रति मेहमाननवाजी के लिए आभार व्यक्त किया।

अंबेडकर जयंती समारोह में शामिल होने आये मध्यप्रदेश के अन्य जिलों और महाराष्ट्र के श्रद्धालुओं ने भी व्यवस्थाओं की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। नागपुर से आये श्री बालचन्द्र नाईक ने बताया कि वे अपने 12 साथियों के साथ बाबा साहेब की जन्म-स्थली पर नमन करने आये हैं। वे पहली बार यहाँ पहुँचे। इतना भव्य स्मारक बनेगा, उन्हें कल्पना नहीं थी। श्रद्धालुओं के लिये की गई व्यवस्थाओं से अब लग रहा है कि हमने बाबा साहेब के कर्ज को उतार दिया है। इसी तरह अकोला से आये सुनील सिरसाट, अनिता, आम्रपाली और विजय खाड़े ने भी व्यवस्थाओं को सराहा और कहा कि वे कल रात अम्बेडकर नगर पहुँचे। यहाँ आने पर ठहरने, खाने और शुद्ध तथा शीतल पेयजल की बेहतर व्यवस्था मिली। हमने यह सोचा भी नहीं था कि मेहमानों की तरह हमारी आवभगत होगी। व्यवस्थाओं से हम अभिभूत हैं। इसी तरह अमरावती जिले से आये सिद्धार्थ पाटिल, प्रगति चवरे तथा प्रदीप उके भी संतुष्ट दिखाई दिये। उन्होंने भी व्यवस्थाओं की प्रशंसा की। इंदौर के वेटनरी कॉलेज में अध्ययन कर रहे विद्यार्थियों, बरेली उत्तर प्रदेश की डॉ. साक्षी सिंह, खरगोन की डॉ. अनिता भटनागर और छिंदवाड़ा के डॉ. लोकेश पगारे का कहना था कि इतना सुंदर और भव्य स्मारक हमने पहली बार देखा है। व्यवस्थाएँ भी बेहतर हैं।

RELATED ARTICLES

सीधी जिला चिकित्सालय में डॉक्टरों की लापरवाही से नवजात शिशु की हुई मौत, परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल

मध्य प्रदेश।  सीधी जिला चिकित्सालय में डॉक्टरों की लापरवाही से नवजात शिशु की मौत का मामला सामने आया है। जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र की...

मध्यप्रदेश में लोगों ने प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के दर्शन कर नए साल का किया आगाज

मध्यप्रदेश। लोगों ने प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के दर्शन कर नए साल का आगाज किया। आस्था के पावन धामों पर भक्तों का जमकर सैलाब उमड़ा, जिसने...

ऋषभ पंत के दिमाग और रीढ़ की एमआरआई स्कैन के नतीजे सामान्य

नई दिल्ली ; उत्तराखंड के रुड़की के पास शुक्रवार की सुबह एक गंभीर कार दुर्घटना में क्रिकेटर के घायल होने के बाद एक मेडिकल बुलेटिन...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

उत्तराखण्ड की झांकी को देश में प्रथम स्थान के लिये किया गया पुरस्कृत

उत्तराखंड, Dehradun ; कर्तव्य पथ, नई दिल्ली गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखण्ड राज्य की ओर से “मानसखण्ड” की झांकी प्रदर्शित की गई थी मुख्यमंत्री...

जोशीमठ क्षेत्र में हो रहे भूधंसाव व भूस्खलन के सम्बन्ध में अपर मुख्य सचिव आनन्दवर्धन की अध्यक्षता में उच्चाधिकार प्राप्त समिति की बैठक हुई

पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु जिलाधिकारी, चमोली द्वारा प्रस्तुत 03 विकल्प पुनर्वास एवं विस्थापन हेतु विकल्पों के सम्बन्ध में शासन स्तर पर माननीय मंत्रिमण्डल के समक्ष...

धामी राज में हासिल हुई एक और बड़ी उपलब्धि, उत्तराखंड की झांकी मानसखंड को पहला पुरस्कार, टीम लीडर केएस चौहान के नेतृत्व में मिली...

देहरादून। गणतंत्र दिवस की परेड में कर्तव्य पथ पर शामिल उत्तराखंड की मानसखंड झांकी को पहला पुरस्कार मिला है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या...

आयुक्त दीपक रावत ने लाईन नम्बर-8 व 12 वनभूलपुरा में अवैध भवन निर्माण के ध्वस्तीकरण के मौके पर निर्देश दिये ।

उत्तराखंड, हल्द्वानी। आयुक्त दीपक रावत ने लाईन नम्बर-8 व 12 वनभूलपुरा में अवैध भवन निर्माण के ध्वस्तीकरण के मौके पर दिये निर्देश। सोमवार सायं आयुक्त...

कर्तव्य पथ पर पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ने प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

देहरादून  गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया है।...

मुख्यमंत्री के निर्देशों पर आयोजित हो रहे “विद्युत समस्या समाधान शिविर“ में आमजन की समस्याओं का प्राथमिकता पर हो रहा निस्तारण

1400 से अधिक  शिकायतों का अब तक किया गया मौके पर निराकरण कैम्पों में बिजली के बिलों में गड़बड़ी, खराब मीटर, लो वोल्टेज, ट्रांसफार्मर आदि...

उत्तराखंड में स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की कमी को दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयार किया मास्टर प्लान

देहरादून। उत्तराखंड में अब स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की कमी को दूर करने के लिए मास्टर प्लान तैयार किया गया है । राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बच्चों के साथ सुनी प्रधानमंत्री की मन की बात

देहरादून राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान के बच्चों के साथ सुनी मन की बात सीएम ने संस्थान के बच्चों से भी की बातचीत ...