Home राष्ट्रीय वायुसेना में अग्निबीर बनने के लिए 3 दिनों में इतने युवाओ ने...

वायुसेना में अग्निबीर बनने के लिए 3 दिनों में इतने युवाओ ने किया आवेदन, विपक्षी अपने राग अलापते रह गये।

” वायुसेना में अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) “

IAF Agniveer Recruitment: वायुसेना में अग्निवीर बनने के लिए युवाओं में दिखा जोश, 3 दिन में इतने युवाओं ने किया आवेदन

Agniveer Air Force: भारतीय वायुसेना में अग्निपथ योजना के तहत ये पहली भर्ती प्रक्रिया है. बता दें कि अग्निपथ योजना के तहत थलसेना और नौसेना में अग्निवीर बनने के लिए आवेदन 1 जुलाई से शुरु होगा.

Agnipath Yojna Recruitment: अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के तहत वायुसेना में अग्निवीरों (Agniveer) की भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया की शुरू हो चुकी है. अग्निपथ योजना के तहत भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) में अग्रिनवीर बनने के लिए पिछले तीन दिनों में कुल 94,281 आवेदन आ चुके हैं. वायुसेना के मुताबिक, 27 जून यानि सोमवार सुबह 10.30 तक कुल 94,281 अभ्यर्थियों ने वायुसेना की वेबसाइट पर वायु-अग्निवीर के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन यानी पंजीकरण कर चुके हैं. 24 जून की सुबह ऑनलाइन आवदेन शुरु हुआ था जो 5 जुलाई तक चलेगा. आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना में अग्निपथ योजना के तहत ये पहली भर्ती प्रक्रिया है. बता दें कि अग्निपथ योजना के तहत थलसेना और नौसेना में अग्निवीर बनने के लिए आवेदन 1 जुलाई से शुरु होगा.

अग्निपथ योजना के तहत भारतीय वायु सेना में अग्निवीर चाल साल के लिए की जाएगी. बता दें कि अग्निवीर वायु किसी भी अन्य मौजूदा रैंक से अलग भारतीय वायु सेना में एक अलग रैंक होगी. हांलाकि, भर्ती के बाद चार साल की सेवा पूरी करने के बाद वायु अग्रिवीर को भारतीय वायु सेना में परमानेंट नौकरी करने के लिए आवेदन करने का अवसर दिया जाएगा.

गौरतलब है कि कई राजनीतिक दलों ने भारतीय सेना के तीनों अंगों में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की नई नीति का शुरूआत से ही विरोध किया है. अग्निपथ योजना के खिलाफ देश के अलग-अलग हिस्सों में कई हिंसक प्रदर्शन भी देखने को मिले. जहां प्रदर्शनकारियों ने इस योजना के विरोध में कई सार्वजनिक स्थानों पर तोड़फोड़ की. इस योजना का सबसे अधिक विरोध बिहार में देखने को मिला. जहां भीड़ ने अग्निपथ योजना के खिलाफ मोर्चा निकाला और ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया. इस योजना के विरोध में हुए प्रदर्शनों में सबसे अधिक नुकसान रेलवे को हुआ है. जिसमें रेलवे की करोड़ों रुपये की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है.

सियासी दलों ने किया योजना का विरोध

वहीं, दूसरी तरफ राजनीतिक दलों ने भी सरकार की अग्निपथ योजना पर एतराज जताया है. कांग्रेस, टीएमसी समेत तमाम विपक्षी दलों ने अग्निपथ योजना को देश के युवाओं के भविष्य के खिलाफ बताया है. कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर इस योजना को वापस लेने की मांग करते हुए देश के अलग-अलग हिस्सों में धरना प्रदर्शन भी किया. कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर अग्निपथ योजना के जरिए देश के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस की मांग है कि इस योजना के लागू होने से पहले ही देश का युवा सड़कों पर है. यह योजना युवा विरोधी है और इसे जल्द से जल्द वापस लिया जाना चाहिए.

RELATED ARTICLES

लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी BJP, मुख्यालय में चल रहा मंथन

उत्तराखंड / दिल्ली। हिमाचल प्रदेश में मतदान हो चुके हैं। वहीं, गुजरात में एक व पांच दिसंबर को मतदान होने हैं।भाजपा यहां पर अपने प्रत्याशियों...

उत्तराखण्ड की बेटी मानसी नेगी ने नेशनल रिकॉर्ड तोड़कर जीता स्वर्ण पदक

देहरादून ; उत्तराखण्ड की बेटियां हर क्षेत्र में देवभूमि का परचम लहरा रही हैं। अब उत्तराखण्ड की मानसी नेगी ने राष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण पदक...

भाजपा आलाकमान के लिए लकी चार्म बने पुष्कर, उत्तराखंड के बाद हिमाचल में मिथक तोड़़ने के अभियान में दिखाई दे रही धामी की धमक

उत्तराखंड, देहरादून।  उत्तराखंड में लगातार दो विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज कर हर बार सत्ता में बदलाव का मिथक तोडऩे के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

राज्यपाल गुरमीत सिंह व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने IAS राकेश को ‘World Book of Records’ के एक्सीलेंस अवार्ड से किया सम्मानित

उत्तराखंड, देहरादून। उत्तराखंड के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) गुरमीत सिंह व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजभवन देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखंड लोक सेवा...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से नेपाल के सांसद अमरेश कुमार सिंह ने शिष्टाचार भेंट की।

    उत्तराखंड, Dehradun: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से रविवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में नेपाल के सांसद अमरेश कुमार सिंह ने शिष्टाचार भेंट की।

देहरादून स्मार्ट सिटी लिमिटेड की दून कनैक्ट सेवा के अंतर्गत 20 बसों का संचालन देहरादून शहर के 04 मार्गों पर पहले से किया  जा...

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 10 इलैक्ट्रिक बसों का शुभारंभ किया  आई०एस०बी०टी० से मालदेवता और आई०एस०बी०टी० से सहसपुर रोड चलेंगी इलैक्ट्रिक बसें देहरादून ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह...

केदारनाथ की तर्ज पर अब महासू देवता व जागेश्वर मंदिर का बनेगा मास्टर प्लान : पर्यटन मंत्री महाराज

देहरादून। श्री बद्रीनाथ, श्री केदारनाथ धाम की तर्ज पर अब हनोल स्थित महासू देवता और अल्मोड़ा स्थित जागेश्वर मंदिर के विकास हेतु मास्टर प्लान...

मसूरी कोल्हुखेत के पानीवाला बैंड पर स्थानीय लोगों ने लगाया जाम, सैंकड़ों वाहनों की लगी कतार

देहरादून। अतिक्रमण हटाओ अभियान के खिलाफ स्थानीय लोगों ने मसूरी कोल्हुखेत के पानीवाला बैंड पर जाम लगा दिया। सैकड़ों वाहन यहां जाम में फंसे हैं,...